कांकेर जिले की महिलाओं द्वारा समाज में स्वच्छता के प्रति जागरूकता लाने का बेहतरीन प्रयास

0
447

छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले की कुछ महिलाओं ने सैनिटरी पैड की ज़रूरत को ध्यान में रखते हुए और समाज में स्वच्छता के प्रति जागरूकता लाने के लिए बेहतरीन प्रयास शुरू किया है। इस जिले के नरहरपुर ब्लॉक के अंतर्गत राजपुर गांव की महिलाएं स्वयं सहायता समूह के जरिए सैनिटरी पैड्स को सस्ते दरों में उपलब्ध करा रही हैं और गांव में महिलाओं और पुरुषों को इसके इस्तेमाल और ज़रूरत के लिए जागरूक भी कर रही हैं।


यह अभियान पिछले साल शुरू हुआ। राजपुर में कुल 7 समूह हैं- महिला बचत, महिला शक्ति, लक्ष्मी समूह, शंकर समूह, उजाला समूह, इंदिरा समूह, जागृति महिला। समूह के बाद ग्राम संगठन बना। फिर पैड की जानकारी मिली। एक महिला ने बताया कि पहले बात करने में इतना संकोच होता था कि महिला आपस में इसके बारे में भी बात नहीं कर पाती थीं।
समूह की एक महिला ने बताया, ‘हम राजनांदगांव गए तो वहां सैनिटरी पैड की मशीन देखने को मिली। वहां भी ऐसे ही एक ग्राम संगठन द्वारा इसे संचालित किया जा रहा था। लेकिन उस मशीन का खर्च लगभग 3 लाख रुपये था इसलिए हमने उसे लगाने में असमर्थता जाहिर कर दी। हमने सोचा कि 3,000 सैनिटरी पैड लेकर चलते हैं और गांव में महिलाओं के बीच पहले इसे प्रयोग कर के देखते हैं।’ उन्होंने कहा, ‘हम सभी समूह और ग्राम संगठन के बीच जाकर महिलाओं को जागरूक कर रहे हैं। हमारे गांव में महिलाएं मासिक धर्म को पाप समझती थीं। लेकिन अब कई सारी महिलाओं ने सैनिटरी पैड का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया।’


राजपुर गांव के इस समूह को जिला प्रशासन की ओर से 51 हजार रुपये की अनुदान राशि भी मिली। अभी महिलाएं इन पैड्स को जिस दाम पर खरीद कर लाई हैं उसी दाम पर गांव में बेच रही हैं। इनका कहना है कि ये फायदा कमाने के उद्देश्य के लिए नहीं बल्कि लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए ऐसा कर रही हैं।


टीम कोऑर्डिनेटर कुंतल मुखर्जी बताते हैं, ‘हम एक साथ तीन चीजों पर काम कर रहे हैं। पहला तो हेल्थ से जुड़ा मुद्दा है, दूसरा अप्रोच और तीसरा अवेयरनेस। इन तीनों मुद्दों को ये महिलाएं सामने ला रही हैं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here