ब्यूटी ऑफ़ छत्तीसगढ़ : रिनी कुजूर, आइये जाने उनके संघर्ष और सफलता की कहानी

0
995

इंटरनेशनल पॉप स्टार रिहाना के करोड़ों दीवाने हैं। इंडिया में भी उनके फैंस की कमी नहीं है। तभी तो जब लोगों ने इंडियन रिहाना की फोटोज देखी तो सभी शॉक्ड हो गए। क्योंकि, देसी रिहाना असली रिहाना से इतनी मिलती-जुलती हैं कि दोनों में फर्क करना बेहद मुश्किल है। हम बात कर रहे हैं छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले के बागीचा में रहने वाली रेने कुजूर की जो पेशे से एक मॉडल हैं और रिहाना की हमशक्ल होने की वजह से इन दिनों तेजी से वायरल हो रही हैं।

इंटरनेशनल पॉप स्टार रिहाना के करोड़ों दीवाने हैं। इंडिया में भी उनके फैंस की कमी नहीं है। तभी तो जब लोगों ने इंडियन रिहाना की फोटोज देखी तो सभी शॉक्ड हो गए। क्योंकि, देसी रिहाना असली रिहाना से इतनी मिलती-जुलती हैं कि दोनों में फर्क करना बेहद मुश्किल है। हम बात कर रहे हैं छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले के बागीचा में रहने वाली रेने कुजूर की जो पेशे से एक मॉडल हैं और रिहाना की हमशक्ल होने की वजह से इन दिनों तेजी से वायरल हो रही हैं।

बचपन में सब कहते थे ‘काली परी’…  
अपने बचपन को याद करते हुए रेने बताती हैं कि जब वो पहली बार फैंसी ड्रेस कॉम्पिटीशन में परी बनकर गई थीं तो किस तरह उनका मजाक उड़ाया गया। उन्हें देखते ही सब कहने लगे- ‘देखो-देखो काली परी आई है’। इसके बाद रेने रोते-रोते ही स्टेज छोड़कर चली गई थी। आज रिनी कुजूर के वही आंसू उसकी पहचान में बदल गए हैं।

‘कुछ परियां काली भी होती हैं’…
रेने को खूबसूरत कहने वालों की लंबी लिस्ट है और वो कहती हैं, ‘कुछ परियां काली भी होती हैं’। आज रेने कुजूर के लिए सोशल मीडिया दीवाना भी होगया है और कन्फ्यूज भी। उसे लोग इंडियन रिहाना फेंटी कह रहे हैं। रॉबिन रिहाना फेंटी जानी-मानी बारबेडियन पॉप स्टार हैं। पहले उनकी दोस्त फिर फोटोग्राफर्स ने क्लाइंट्स को ये कहना शुरू किया कि रिनी, रिहाना जैसी दिखती हैं और यहीं से उनका सफर थोड़ा आसान होना शुरू हो गया।

काले रंग की वजह कोई नहीं दे रहा था मौका…
अपना अनुभव बताते हुए रेने कहती है कि मॉडलिंग में करियर बनाने का सपना लेकर जब वो उस दुनिया में पहुंचीं तो काले रंग की वजह से उन्हें कई बार रिजेक्शन का सामना करना पड़ा। काला रंग होने की वजह से मॉडलिंग वर्ल्ड में उसे काफी मुश्किल हो रही थी। कई बार उसे इनकार सुनना पड़ा। काला रंग और अंग्रेजी में हाथ तंग होने की वजह से कोई भी उसे अपने प्रोजेक्ट में लेने को तैयार नहीं होता था। लोगों ने उसे यहां तक कहा कि सभी मॉडल वेश्यावृत्ति में होती हैं और जब तक वो क्लाइंट्स को खुश नहीं करेगी, उसे मौका नहीं मिलेगा।

मुझे इस दौरान कहा गया की जब कोई पूछे तो छत्तीसगढ़ का नाम नहीं लेना दिल्ली से हूँ  बताना।

#TalkForThinking #Perception

सबके सामने मेकअप आर्टिस्ट ने उड़ाया था मजाक…
ऐसा ही एक बुरा अनुभव शेयर करते हुए रेने ने बताया कि फोटोग्राफर्स पहले मेकअप ऑर्टिस्ट को उनका स्किन टोन हल्का करने को कहते थे और फोटोज को एडिट भी ज्यादा करते थे। रेने बताती हैं कि एक बार तो मेकअप आर्टिस्ट ने ये भी कहा कि सुंदर लड़की का मेकअप तो कोई भी कर सकता है, देखो मैंने काली लड़की को सुंदर बनाया।

शुरुवात से रही हैं सेल्फ-अर्निंग                                                                                               रनी बताती हैं – मने अपने स्कुल की पढ़ाई ख़त्म की। इसके बाद से ही मैंने अर्निंग करना शुरु कर दिया था । मैंने अपने माता पिता से कहा की आपने जितना करना था कर दिया अब मेरी बारी है। इस बीच ऐसा भी हुआ जब मेरे पास काम नहीं था। तब मैं साल भर घर में बैठी रही। इस दौरान मैं फ्रशटेशन में थी। तभी मने डिसाइड किया की  कुछ भी करुँगी। तब मैंने अपने सेविंग्स से अपना पोर्टफोलियो बनवाया। मैंने बहुत जगह फोलियो दिया लेकिन सभी रिजेक्ट हो गया ।

लोग एक ट्राइबल गर्ल को आगे नहीं बढ़ने देते। वो सोचते हैं की वह कुछ कर नहीं सकतीं। वह ये भी सोचते हैं की हम एक गवर्नमेंट जॉब से जादा आगे बढ़ ही नहीं सकते औऱ न ही सोच सकते हैं। लेकिन मैंने ठाना की मैं इस सोच को बदल कर रहूंगी।

दोस्त ने कहा- रेहाना जैसी दिखती हो…
रेने बताती हैं कि एक दिन उसकी दोस्त ने कहा कि वो रिहाना जैसी दिखती है और फिर बिना मेकअप उसका फोटो ले लिया। शुरू में रेने इस बात पर खूब हंसी लेकिन धीरे-धीरे सब उसे यही कहने लगे। फिर फोटोग्राफर्स ने भी क्लाइंट्स को यही कहा कि रेने इंडियन रिहाना हैं, उसका चेहरा और लुक्स पॉप स्टार रिहाना जैसे हैं। लोग कन्वेंस होने लगे और रेने को मौका मिल गया।

रेने, रेहाना को कहना चाहती हैं थैंक्स…
रेने कहती हैं कि रिहाना जैसी दिखने की वजह से कई सारी चीजें खुद होने लगीं। जैसे उसे फिर ये नहीं कहना पड़ा कि वो सुंदर है, क्योंकि लोग पहले से ही रिहाना को ब्यूटीफुल और सेक्सी मानते हैं। रेने इसके लिए रिहाना को थैंक्स भी कहती हैं कि, अगर वो रिहाना जैसी नहीं दिखती तो जाने कितने दिन और संघर्ष करना होता। रेने कहती हैं कि रिहाना फैक्टर उनके लिए भाग्यशाली साबित हुआ। रेने, इसके लिए रिहाना से मिलकर उन्हें थैंक्स भी कहना चाहती हैं।

इसमें कोई शक नहीं कि रेने की ये जर्नी इंस्पायरिंग भी हैं और इमोशनल भी। खासकर भारत जैसे देश में, जहां आज भी गोरा रंग एक टैबू है। ऐसे में रेने की ये कहानी उनकी जैसी कई लड़कियों को प्रेरणा देती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here